डोपिंग : शॉटपुटर मनप्रीत कौर पर लगा चार साल का बैन

चार बार डोप टेस्ट में फेल होने के बाद नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी (NADA) ने एशियन चैंपियनशिप विनर शॉट पुट एथलीट मनप्रीत कौर को चार साल के लिए बैन कर दिया है।

नाडा की एंटी डोपिंग डिसिप्लिनरी पैनल ने मनप्रीत पर यह बैन लगाया है। इस बैन की शुरुआत 20 जुलाई 2017 से होगी। नाडा के डायरेक्टर नवीन अग्रवाल ने बताया, ‘हां मनप्रीत कौर को चार साल के लिए बैन किया गया है।’

मिलेगा अपील का मौका

मनप्रीत नाडा के इस फैसले के खिलाफ एंटी डोपिंग अपील पैनल में अपील कर सकती हैं। इस फैसले के बाद मनप्रीत 2017 में भुवनेश्वर में हुए एशियन चैंपियनशिप में मिले गोल्ड मेडल और अपने नेशनल रेकॉर्ड को गंवा देंगी। मनप्रीत को इन रिकॉर्ड्स से इसलिए हाथ धोना पड़ेगा क्योंकि पैनल ने उन्हें नमूने को कलेक्ट करने की तारीख से ही अयोग्य घोषित कर दिया है।

जानने योग्य है कि मनप्रीत को 2017 में चार बार डोप टेस्ट में पॉजिटिव पाया गया है। चीन के शिन्हुआ में 24 अप्रैल को हुई एशियन ग्रांप्री के बाद फेडरेशन कप (पटियाला, एक जून) एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप (भुवनेश्वर, छह जुलाई) और इंटरस्टेट चैंपियनशिप (गुंटूर, 16 जुलाई) में भी उनके नमूने पॉजिटिव पाए गए थे। इन सभी प्रतियोगिताओं में गोल्ड मेडल जीतने वाली मनप्रीत ने शिन्हुआ में 18.86 मीटर का नेशनल रिकॉर्ड भी कायम किया था।

शिन्हुआ एशियन ग्रां प्री में लिए गए उनके नमूने में मेथेनोलोन पाया गया जबकि बाकी की तीनों प्रतियोगिताओं में डिमिथाइलब्यूटीलामाइन पाया गया। एशियन ग्रां प्री में मनप्रीत के नमूने में स्टेरायड पाए जाने के मामले में उनके वकील ने कहा था कि पटियाला में प्रैक्टिस के दौरान बदले की भावना से मनप्रीत के पेय पदार्थ में एक खिलाड़ी ने कथित तौर पर कुछ मिला दिया था।

खारिज हुई बचाव की दलील

मनप्रीत के वकील ने कहा कि अप्रैल 2017 में गोपाल नाम के एक कबड्डी प्लेयर से उनकी बहस हो गयी थी जिसके बाद गोपाल ने बदला लेने के लिए उनके पेय पदार्थ में कुछ मिला दिया था। मनप्रीत ने इस मामले पर कहा था, ‘मैंने जानबूझकर स्टेरायड का सेवन नहीं किया, यह बदले की भावना से की गई कार्रवाई हो सकती है।’

हालांकि पैनल ने उनकी दलील को कमजोर बताकर खारिज कर दिया। आपको बता दें कि मनप्रीत रियो 2016 ओलंपिक्स के लिए क्वॉलिफाई करने वाली इकलौती इंडियन विमिन शॉटपुटर थीं।

Author: हिंदी में स्पोर्ट्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *