इंडिया ओपन के फाइनल में हारे किदांबी श्रीकांत

डेनमार्क के दिग्गज बैडमिंटन स्टार विक्टर एक्सेलसन ने संडे 31 मार्च को दिल्ली में हुए इंडिया ओपन के मेंस सिंगल्स फाइनल में भारत के स्टार किदांबी श्रीकांत को 21-7, 22-20 से हरा दिया। भारत की उम्मीदों पर पानी फेरते हुए विक्टर ने वर्ल्ड टूर सुपर 500 टूर्नामेंट योनेक्स सनराइज इंडिया ओपन 2019 का चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया।

2015 में भी इन्हीं दोनों प्लेयर्स के बीच फाइनल हुआ था और उस साल श्रीकांत ने बाजी मारी थी। 2017 में पहली बार यह खिताब जीतने वाले विक्टर ने फाइनल में श्रीकांत को हराते हुए दूसरी बार इस खिताब को अपने नाम किया।

इंतातोन ने बनाया रिकॉर्ड

विमिंस सिंगल्स में थाईलैंड की रात्चानोक इंतानोन ने तीसरी बार यह खिताब अपने नाम करते हुए इतिहास रच दिया। वह इंडिया ओपन का विमिंस सिंगल्स खिताब तीन बार जीतने वाली पहली शटलर बन गई है। इंतानोन ने फाइनल में चीन की ही बिंगजियाओ को 21-15, 21-14 से हराया।

इसी के साथ इंतानोन ने भारत के इस सबसे प्रतिष्ठित बैडमिंटन टूर्नामेंट का खिताब जीतने के मामले में महान मेंस शटलर ली चोंग वेई की बराबरी कर ली। इंतानोन ने इससे रहले 2013 और 2016 में यहां खिताब जीता था। इंतानोन ने सिर्फ 46 मिनट में दूसरा गेम और मैच अपने नाम करते हुए इंडिया ओपन में नया इतिहास बना दिया।

मैच के बाद इंतानोन ने कहा, ‘मैंने अपनी पिछली गलतियों से सीखा, जब मैं ही के खिलाफ हार गई थी। साथ ही मैंने ही और सिंधु के मैच को भी देखा और काफी कुछ सीखा। लोग कहते हैं कि मैं यहां इंडिया ओपन में काफी अच्छा खेलती हूं। मुख्य हाल में आने से पहले मैंने ही के खिलाफ अपना रिकार्ड देखा था और मैं इसे बदलना चाहती थी।’

विक्टर ने खेला कमाल का गेम

वर्ल्ड नम्बर-4 विक्टर ने इसी महीने ऑल इंग्लैंड के फाइनल में जगह बनाई थी और वह श्रीकांत के खिलाफ पहले गेम में काफी मजबूत नजर आए। श्रीकांत पहले गेम में लय हासिल करने के लिए संघर्ष करते नजर आए। विक्टर ने इसका पूरा फायदा उठाते हुए 2015 के चैंपियन श्रीकांत को पहले गेम में 21-7 से हरा दिया।

दूसरे गेम में इंडियन फैंस ने श्रीकांत की हौसलाअफजाई की और इसकी बदौलत उन्होंने विक्टर को अच्छी टक्कर दी। एक समय श्रीकांत और विक्टर के बीच का स्कोर 12-12 की बराबरी पर था। इसके बाद वर्ल्ड नम्बर-7 श्रीकांत ने 20-18 की बढ़त हासिल कर ली। इसके बाद श्रीकांत की गलतियां उन पर भारी पड़ी और विक्टर ने उनका फायदा उठाते हुए मैच 36 मिनट में अपने नाम कर लिया।

डबल्स में विनर्स ने बचाया खिताब

विमिंस डबल्स और मिक्स्ड डबल्स कैटेगरी में टॉप सीड जोड़ीदार ग्रेसिया पोली और अप्रियानी राहायु तथा वांग यिलयू और हुआंग डोंगपिंग अपना खिताब बचाने में सफल रहे। पोली और राहायू ने चाउ और ली को 21-11, 25-23 से हराया जबकि यिलयू और डोंगपिंग ने प्रवीन जार्डन और मेलाती दाएवा ओकतावियांती को 21-13, 21-11 से हराया।

कुल परिणाम इस प्रकार रहे

विमिंस सिंगल्स

रत्चानोक इंतानोन (थाईलैंड) (4) ने ही बिंगजियाओ (चीन) (3) को 21-15, 21-14 से हराया

मेंस सिंगल्स

विक्टर एक्सेलसन (डेनमार्क) (2) ने किदाम्बी श्रीकांत (भारत) (3) को 21-7, 22-20 से हराया

मेंस डबल्स

यांग / वांग (ताइपे) ने करनदासूवार्दी / प्रातामा (इंडोनेशिया) को 21-14, 21-14 से पराजित किया

मिक्स्ड डबल्स

वांग / हुआंग (चीन (1) ने जोर्डन / ओक्तावियांती (इंडोनेशिया) (5) को 21-13, 21-11 से हराया

विमिंस डबल्स

पोली / राहायू (इंडोनेशिया) (1) ने चाउ / ली (मलेशिया) (3) को 21-11, 25-23 से हराया.

Author: हिंदी में स्पोर्ट्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *