सुदीरमन कप : मेडल्स की तलाश में उतरेंगे भारतीय दिग्गज

ओलंपिक सिल्वर मेडलिस्ट पीवी सिंधू और ब्रॉन्ज मेडलिस्ट साइना नेहवाल संडे, 19 मई से शुरू होने वाले सुदीरमन कप में भारतीय चुनौती की अगुवाई करेंगी। भारतीय शटलर्स इस प्रतियोगिता का पुराना इतिहास भुलाकर इस बार मेडल की तलाश में उतरेंगे।

आपको बता दें कि भारत 2011 और 2017 में इस टूर्नामेंट के क्वॉर्टर-फाइनल तक पहुंचा था लेकिन टीम वहां से आगे नहीं जा पाई। इस बार भी टीम इंडिया को चीन और 2009 में सेमी-फाइनल तक पहुंची मलेशिया के खिलाफ सतर्क रहना होगा।

मलेशिया से होगी शुरुआत

मिक्स्ड टीम चैंपियनशिप में भारत अपने बेहतरीन सिंगल्स प्लेयर्स पर निर्भर होगा जिसमें टॉप इंडियन शटलर सिंधु, 2019 इंडोनेशिया मास्टर्स चैंपियन साइना नेहवाल, 2019 इंडिया ओपन के फाइनल तक जाने वाले किदांबी श्रीकांत और BWF वर्ल्ड टूर फाइनल्स के सेमी-फाइनलिस्ट समीर वर्मा शामिल हैं।

सबसे पहले भारत को इस सोमवार मलेशिया से पार पाना होगा जिसके बाद अगले दिन टीम को 10 बार की चैंपियन चीन से भिड़ना होगा। 13 सदस्यों वाली भारतीय टीम को इस बार आठवीं वरीयता मिली है।

नहीं खेलेंगे वेई

दुनिया के पूर्व नंबर एक शटलर ली चोंग वेई इस बार नहीं खेलेंगे और भारतीय दल मलेशिया के खिलाफ इस मौके का फायदा उठा सकता है। वेई की अनुपस्थिति में मेंस सिंगल्स की जिम्मेदारी ली जि जिया के कंधों पर है।

विमिंस सिंगल्स में गोह जिन वेई या सोनिया चिया मलेशियाई चुनौती की अगुवाई करेंगी और उनके खिलाफ सिंधु और साइना से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है। इधर मलेशिया को नॉकआउट में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को बेहतर करने के लिए डबल्स में बेहतर करना होगा।

चोट से वापसी कर रहे सात्विक साईराज रैंकी रेड्डी से भारत को मेंस डबल्स और मिक्स्ड डबल्स में उम्मीद होगी। टूर्नामेंट में पिछली बार भारत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 1989 की विजेता इंडोनेशिया को हराकर क्वॉर्टर-फाइनल में एंट्री की थी जहां उन्हें चीन से हार का सामना करना पड़ा था।

Author: हिंदी में स्पोर्ट्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *