बॉक्सिंग वर्ल्ड कप : फाइनल में पहुंची साक्षी और बासुमतारी

पूर्व वर्ल्ड यूथ चैंपियन साक्षी (57KG) और इंडिया ओपन चैंपियन पिलाओ बासुमातारी (64KG) ने गोल्ड मेडल की तरफ एक और कदम बढ़ाते हुए शुक्रवार को जर्मनी के कोलोन में जारी बॉक्सिंग वर्ल्ड कप-2019 के फाइनल में जगह बना ली।

हालांकि पिंकी रानी (51KG) और परवीन (60KG) की हार ने भारत को निराश किया और ये दोनों बॉक्सर अब ब्रॉन्ज मेडल लेकर स्वदेश लौटेंगी। इन दोनों को सेमीफाइनल में हार मिली।

साक्षी का क्लीन स्वीप

जबरदस्त टैलेंटेड 18 साल की साक्षी ने थाईलैंड की तिंताबथाई प्रीदाकामोन के खिलाफ 5-0 की जीत के साथ अपनी प्रतिभा की झलक दिखाई। अब पूर्व जूनियर वर्ल्ड चैंपियन को फाइनल में 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स की सिल्वर मेडलिस्ट आयरलैंड की माइकेला वाल्श से भिड़ना होगा।

दूसरी ओर स्ट्रांजा बॉक्सिंग चैंपियनशिप की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट पिलाओ ने डेनमार्क की अइयाजा डिटे फ्रास्तोल्म को स्प्लि डिसिजन के आधार पर हराया। फाइनल में इस 26 साल की खिलाड़ी का सामना चीन ती चेनग्यू यांग से होगा।

अभी भारत के पास अपने खाते में कुछ और गोल्ड मेडल्स जोड़ने का मौका है। स्ट्रांजा बॉक्सिंग चैंपियनशिप की गोल्ड मेडलिस्ट मैसराम को 54KG कैटेगरी में सीधे फाइनल में रखा गया है। मैसराम फाइनल में थाईलैंड की माचाई बुनयानुत से भिड़ेंगी और यह इस टूर्नामेंट में उनका पहला मुकाबला होगा।

51KG कैटिगरी में पिंकी रानी का शानदार सफर आयरलैंड की 2018 कॉमनवेल्श सिल्वर मेडलिस्ट कार्ली मैक्नाउल के हाथों रुक गया। पिंकी 5-0 से हार गईं। इसी तरह परवीन को इंग्लैंड की मैगी मुर्ने ने हराया। भारत ने इस टूर्नामेंट में सात सदस्यीय दल भेजा है। टूर्नामेंट में 21 देशों की मुक्केबाज 17 भार वर्गों में हिस्सा ले रही हैं।

Author: हिंदी में स्पोर्ट्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *