द्रोणाचार्य अवॉर्ड्स की लिस्ट में अपने कोच का नाम ना देखकर खफा हैं अमित पंघल

हाल ही में खत्म हुई एशियन चैंपियनशिप के गोल्ड मेडलिस्ट बॉक्सर अमित पंघल इसी हफ्ते जारी हुए द्रोणाचार्य अवॉर्ड्स के नॉमिनेशंस में अपने कोच अनिल कुमार का नाम ना होने से खफा हैं।

पंघल का कहना है कि उनके कोच के साथ बुरा बर्ताव हो रहा है है। आपको बता दें कि बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (BFI) ने बीते मंगलवार को जारी हुई लिस्ट में पंघल के कोच को नजरअंदाज कर द्रोणाचार्य अवॉर्ड के लिए संध्या गुरुंग और शिव सिंह के नाम आगे भेजे हैं।

सबसे ज्यादा हैं पॉइंट्स

टाइम्स के मुताबिक इस साल दोबारा से अर्जुन अवॉर्ड के लिए नामित हुए पंघल ने निराशा जाहिर करते हुए कहा, ‘मुझे लगता है कि मेरे कोच अनिल कुमार का नाम द्रोणाचार्य अवॉर्ड के लिए भेजा जाना चाहिए था। वह मेरे कोच हैं और इस वजह से उनके पॉइंट्स सबसे ज्यादा हैं। उनका नाम पिछली बार भी नहीं भेजा गया था। यह गलत हुआ है।’

मौजूदा एशियन चैंपियन पंघल ने कहा आगे, ‘द्रोणाचार्य अवार्ड के लिए किसी और के नाम की सिफारिश कर दी गई है। ऐसे व्यक्ति का नाम भेजा गया है जिसके पॉइंट्स कम हैं। मेरे सर (कोच) के पॉइंट्स ज्यादा हैं तो भी उनका नाम नहीं भेज रहे हैं।’

प्रक्रिया पर उठाया सवाल

आपको बता दें कि इस साल BFI द्वारा द्रोणाचार्य अवॉर्ड के लिए नामित की गईं संध्या पिछले एक दशक से इंडियन विमिंस बॉक्सिंग टीम के साथ रही हैं। जबकि शिव सिंह पिछले तीन दशक से इंडियन बॉक्सर्स को ट्रेन कर रहे हैं।

साल 2018 में हुए एशियन गेम्स के गोल्ड और 2018 गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स के सिल्वर मेडलिस्ट पंघल ने आगे कहा, ‘मैंने शुरुआत से ही अनिल सर के साथ रहकर कोचिंग की है और उनके मार्गदर्शन में कई सारे मेडल्स अपने नाम किए हैं। द्रोणाचार्य अवॉर्ड दो तरीके से मिलते हैं।

एक तो कोच के प्रदर्शन के आधार पर और दूसरा उनके शिष्य के प्रदर्शन के आधार पर। मेरा प्रदर्शन अब तक का बेस्ट रहा है और इसका श्रेय मेरे कोच को जाता है। मेरे प्रदर्शन के आधार पर मेरे कोच के पॉइंट्स सबसे अधिक हैं लेकिन बीते साल की तरह इस साल भी उन्हें नजरअंदाज किया गय।’

Author: Hindi Me Sports

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *