रशियन टूर्नामेंट के सेमी-फाइनल में पहुंची चार इंडियन विमिंस बॉक्सर्स

एशियन गोल्ड मेडलिस्ट पूजा रानी (75Kg) और वर्ल्ड चैंपियनशिप की ब्रॉन्ज़ विनर लवलीना बोर्गोहेन (69Kg) के साथ दो अन्य इंडियन विमिन बॉक्सर्स ने रूस में चल रही मागोमेद सलम उमाखानोव मेमोरियल इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट के सेमी-फाइनल में जगह बना ली।

इंडिया ओपन की गोल्ड मेडलिस्ट नीरज (57Kg) और पूर्व वर्ल्ड यूथ ब्रॉन्ज़ मेडलिस्ट जॉनी (60Kg) सेमी-फाइनल में पहुंचने वाली बाकी दो इंडियन बॉक्सर्स रहीं।

कमाल के मुक्के

स्ट्रांजा मेमोरियल कप की ब्रॉन्ज़ मेडलिस्ट लवलीना ने रूस की अनास्तासिया सिगाएवा को 5-0 से पीटकर अपना मेडल पक्का किया। सेमी-फाइनल में उन्हें बेलारूस की अलिना वेबर से भिड़ना होगा।

दूसरे मुकाबले में पूजा ने मई में हुए इंडिया ओपन की हार से उबरते हुए रूस की लॉरा मामेदकुलोवा को 4-1 से पीटकर सेमी-फाइनल में एंट्री की।

नीरज ने भी लोकल बॉक्सर सयाना सागातावा को 4-1 से परास्त किया। जबकि जॉनी ने बेलारूस की अनास्तासिया ओबुशेंकोवा को 5-0 से पीटा। कॉमनवेल्थ गेम्स की पूर्व ब्रॉन्ज़ मेडलिस्ट पिंकी जांगड़ा क्वॉर्टर-फाइनल में हारने वाली इकलौती इंडियन वुमेन बॉक्सर रहीं।

साल 2018 के इंडिया ओपन की चैंपियन पिंकी को (51Kg) के इस मुकाबले में बेलारूस की यूलिया अपनासोविच ने 5-0 से मात दी।

पुरुष भी जीते

मेंस में आशीष इंसा (52Kg) ने अज़रबजान के सलमान अलिज़ादे को 4-1 से हराकर क्वॉर्टर-फाइनल में एंट्री की। उनके साथ ही 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स चैंपियन गौरव सोलंकी (56Kg), गीबी बॉक्सिंग सिल्वर मेडलिस्ट गोविंद साहनी (49Kg) और 2018 इंडिया ओपन गोल्ड मेडलिस्ट संजीत (91Kg) ने भी अंतिम-आठ में प्रवेश किया।

इस टूर्नामेंट के 21वें एडिशन में भारत की तरफ से छह पुरुष और पांच महिला बॉक्सर उतरे थे। गौरतलब है कि इस टूर्नामेंट में 21 देशों के 200 से ज्यादा बॉक्सर्स ने भाग लिया था।

Author: हिंदी में स्पोर्ट्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *