वर्ल्ड कप 2019: गिल्लियां नहीं बदलेगी ICC

क्रिकेट की गवर्निंग बॉडी ICC ने वर्ल्ड कप में खेल रहे स्टार प्लेयर्स द्वारा गिल्लियों को बदलने की गुज़ारिश को इग्नोर कर दिया है। गौरतलब है कि ग्रेट ब्रिटेन में चल रहे वर्ल्ड कप के दौरान गिल्लियों को लेकर काफी विवाद खड़े हो चुके हैं।

इस विवाद से टूर्नामेंट के खराब होने का भी डर है। इसे मद्देनज़र रखते हुए इंडियन कैप्टन विराट कोहली और कंगारू कप्तान आरोन फिंच ने इसके खिलाफ आवाज उठाई है।

ओवल में नहीं गिरी थी गिल्ली

बता दें कि रविवार को ओवल में खेले गए भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया मैच के दौरान पेसर जसप्रीत बुमराह की एक बॉल पर कंगारू बैट्समैन डेविड वॉर्नर आउट होने से बच गए क्योंकि बॉल विकेट पर लगने के बावजूद गिल्लियों की लाइट्स नहीं जली और न ही वो गिरी।

हिंदुस्तान टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक टूर्नामेंट में यह घटना पहली बार नहीं हुई है। इससे पहले ऐसी चार घटनाएं और हो चुकी हैं जब विकेट पर बॉल लगने के बावजूद गिल्लियां न तो गिरी हैं और न ही उनमें लाइट्स जली।

ICC नहीं बदलेगा बेल्स

कोहली, फिंच के साथ इंग्लैंड के पूर्व कैप्टन माइकल वॉन और नासिर हुसैन ने भी इसके खिलाफ आवाज उठाई है और बेल्स को बदलने की मांग की है पर टूर्नामेंट के ऑर्गनाइजर्स का इसे बदलने का कोई प्लान नहीं है।

मंगलवार को स्काई स्पोर्ट्स से बातचीत के दौरान ICC ने कहा,

‘हम इवेंट के बीच में कुछ नहीं बदलेंगे। यह इस टूर्नामेंट की अखंडता के साथ समझौता होगा। इस टूर्नामेंट में भाग ले रही 10 टीमों और 48 मैचों के लिए सारे इक्विप्मेंट्स एक समान है। पिछले चार सालों में स्टम्प्स नहीं बदले गए हैं। 2015 में खेले गए मेंस क्रिकेट वर्ल्ड कप के बाद ये ICC के सारे इवेंट्स में इस्तेमाल हुए हैं।

इसका मतलब है कि ये स्टम्प्स और गिल्लियां 1000 गेम्स से ज्यादा में इस्तमाल हुई हैं। यह एक सांख्यिकीय विसंगति है। यह मुद्दा हमेशा से गेम का हिस्सा रहा है। इसके पीछे जो लॉजिक है उसे मान लिया गया है कि एक बैट्समैन को आउट करने के लिए ज्यादा ताकत की जरूरत होती है।’

फोटो सोशल मीडिया से साभार

Author: लवली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *