CWC19 : भारत के फाइनल में ना पहुंचने से स्टार स्पोर्ट्स को हुआ करोड़ों का नुकसान

क्रिकेट वर्ल्ड कर 2019 से भारतीय क्रिकेट टीम के बाहर होने से ना सिर्फ करोड़ों फैंस बल्कि ऑफिशियल ब्रॉडकास्टर स्टार स्पोर्ट्स भी सदमे में है।

रिपोर्ट्स का दावा है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमी-फाइनल में टीम इंडिया की हार से स्टार स्पोर्ट्स को ऐड रेवेन्यू में कम से कम 10-15 करोड़ का नुकसान हुआ है।

वर्ल्ड कप के सेमी-फाइनल में भारत को मिली 18 रन की हार से टीवी पर मैच देखने वाले लोगों की संख्या में बड़ी गिरावट आई है और इसका सीधा असर स्टार स्पोर्ट्स को ऐड से होने वाली कमाई पर हुआ है।

करोड़ों का घाटा

लाइव मिंट के मुताबिक अगर भारत फाइनल में पहुंचता तो स्टार लास्ट मिनट में बिकने वाले ऐड्स पर 25-30 लाख प्रति 10 सेकेंड का चार्ज करता। अभी के अनुमानों के मुताबिक यह स्लॉट अब 15-17 लाख के हिसाब से बिकेंगे।

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक उनसे बात करते हुए एक मुंबई बेस्ट मार्केटिंग एंड कम्यूनिकेशन एजेंसी के चेयरमैन संदीप गोयल ने कहा,

हालांकि भारत का बाहर होना निराशाजनक है लेकिन इसके बावजूद 100 से ज्यादा दिनों तक चले इंडियन प्रीमियर लीग और वर्ल्ड कप के नॉन-स्टॉप क्रिकेट एक्शन से ब्रांड्स को जबरदस्त फायदा हुआ है।

HT से बात करते हुए एक स्वतंत्र मीडिया कंसल्टेंट हर्षा जोशी ने कहा कि वैसे तो स्टार ऐड्स को बंडल डील में बेच रहा था जिससे लास्ट मिनट के लिए काफी कम स्पेस बचता है लेकिन इसके बावजूद नुकसान तो हुआ है। हर्षा ने कहा,

लेकिन भारत के बाहर होने से बचे हुए कुछ स्पॉट्स का नुकसान हुआ है। ब्रांड्स बड़ा पेमेंट करते, नए प्रोडक्ट्स/सर्विसेज को वर्ल्ड कप फाइनल मैच के दौरान लॉन्च करने से जबरदस्त रीच मिलती है।

हर्षा ने कहा कि अगर ब्रॉडकास्टर बचे हुए स्पेस को 30 लाख प्रति 10 सेकेंड्स के रेट से भी बेचता तो 8-10 करोड़ की कमाई तो हो ही जाती।

मिंट ने इससे पहले रिपोर्ट किया था कि ब्रॉडकास्टर को इस वर्ल्ड कप से 18,00 करोड़ के ऐड रेवेन्यू की उम्मीद थी।

एक वर्ल्ड कप मैच में लगभग 55,00 सेकेंड्स के ऐड्स का वक्त होता है जबकि फाइनल के दौरान मांग के अनुसार स्टार 7,000 सेकेंड्स तक का वक्त निकाल सकता था।

हॉटस्टार का रोल

चार साल में एक बार होने वाले ICC क्रिकेट वर्ल्ड कप की पॉपुलैरिटी को देखते हुए स्टार ने 40 से ज्यादा बड़े ब्रांड्स को साइन किया था जिसमें फोनपे, वनप्लस, हैवेल्स, अमेज़न, ड्रीम11, एमआरएफ टायर्स, कोकाकोला, ऊबर, ओप्पो, फिलिप्स, सिएट टायर्स, स्विग्गी, एयरटेल, वोडाफोन, नेटफ्लिक्स, पैसाबाजार और ICICI लोम्बार्ड जैसे ब्रांड्स शामिल हैं।

उम्मीद है कि स्टार 1200 से 1500 करोड़ तक का रेवेन्यू टीवी से जबकि 300 करोड़ का रेवेन्यू हॉटस्टार से कमाएगा। मनीकंट्रोल के मुताबिक यह 2015 वर्ल्ड कप में कमाए गए 700 करोड़ के रेवेन्यू के दोगुने से भी ज्यादा है।

इस वर्ल्ड कप में कई चीजों ने स्टार के पक्ष में काम किया जैसे इंग्लैंड की मैच टाइमिंग्स भारतीय टेलिविजन के प्राइम टाइम से मैच करती थीं। इंडिया के ज्यादातर गेम्स वीकेंड में हुए जब व्यूअरशिप काफी बढ़ जाती है।

इस साल स्टार ने हॉटस्टार से भी काफी कमाई की। उन्होंने ऐड्स बंडल में बेचे जिसमें टीवी और डिजिटल दोनों प्लेटफॉर्म का स्पेस शामिल था। साल 2015 में भी हॉटस्टार ने वर्ल्ड कप मैच दिखाए थे लेकिन पिछली बार इसे ऐड्स बेचकर मॉनेटाइज़ नहीं किया गया था।

फोटो : सोशल मीडिया से साभार

Author: लवली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *