IPL : अंपायर के फैसले से गुस्साकर मैदान में घुसे धोनी, लगा जुर्माना

मैदान पर अक्सर कूल रहने के लिए मशहूर चेन्नई सुपरकिंग्स के कैप्टन और विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी बीती रात गुस्से में आगबबूला होकर मैदान में घुस आए थे।

अंपायर के एक फैसले से नाराज धोनी के मैदान पर आने से खेल में बाधा तो पहुंची ही इससे उनकी कैप्टन कूल की इमेज को भी काफी नुकसान पहुंचा।

नो बॉल का बवाल

बीती रात राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में खेले गए IPL मैच में धोनी को गुस्से में लाल-पीला होते देखा गया। हुआ यूं कि राजस्थान द्वारा सेट किए गए टार्गेट को चेज़ करने उतरी चेन्नई की टीम को आखिरी 3 बॉल्स में 8 रन चाहिए थे और क्रीज़ पर रविंद्र जडेजा के साथ माइकल सैंटनर मौजूद थे।

राजस्थान के बॉल बेन स्टोक्स ने लास्ट ओवर की चौथे बॉल एक स्लोअर फुल टॉस फेंकी और बॉलर्स एंड पर खड़े अम्पायर ने उसे नो-बॉल करार दे दिया। इस दौरान क्रीज पर मौजूद चेन्नई के बैट्समेन सैंटनर और जडेजा ने दौड़कर दो रन ले लिए।

टेक्निकली इसके बाद चेन्नई के लिए रन और बॉल्स का अंतर 3 बॉल पर 5 रन के साथ एक फ्री-हिट होना चाहिए था, पर स्क्वॉयर लेग पर मौजूद अम्पायर ने पहले वाले फैसले को खारिज कर दिया। अंपायर के इस फैसले ने धोनी को ग्राउंड में आने पर मजबूर कर दिया।

धोनी पर लगा फाइन

अंपायर के फैसले से गुस्साए धोनी डगआउट से निकले और सीधा अंपायर के पास पहुंच गए और इस फैसले को लेकर अपना विरोध जताया। नियमों के मुताबिक धोनी के पास आउट होकर पवेलियन जाने के बाद ग्राउंड में आने का अधिकार नहीं था।

नतीजतन कोड ऑफ कंडक्ट को तोड़ने के लिए कैप्टन कूल पर 50 परसेंट मैच फीस का फाइन लग गया है। चेन्नई के कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने पोस्ट मैच कॉन्फ्रेंस में धोनी की इस हरकत की वजह बताई है। उनके मुताबिक धोनी केवल अंपायर के इस फैसले पर सफाई चाहते थे।

इस कॉन्ट्रोवर्सी से अलग बात करें तो धोनी ने इस गेम में शानदार प्रदर्शन करते हुए 43 बॉल में 58 रन स्कोर किए औऱ अपनी टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई। इसके अलावा राजस्थान को हराकर धोनी IPL के इतिहास में पहले ऐसे कैप्टन बन गए हैं जिन्होंने 100 गेम्स जीते हैं।

Author: लवली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *