आंकड़े : भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान बने विराट कोहली

वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दूसरे मैच में भारत की 257 रन की बड़ी जीत के साथ ही विराट कोहली ने अपना नाम इतिहास में दर्ज करा लिया। अब कोहली टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सबसे सफल भारतीय कप्तान बन गए हैं।

कोहली ने यह उपलब्धि उसी मैदान पर हासिल की जहां साल 2011 में उन्होंने अपना टेस्ट डेब्यू किया था। हनुमा विहारी की बैटिंग, जसप्रीत बुमराह द्वारा पहली इनिंग में की गई खतरनाक बॉलिंग के साथ रविंद्र जडेजा की स्पिन और विकेट के पीछे ऋषभ पंत की चपलता ने टीम को जीत दिलाई।

रिकॉर्ड ही रिकॉर्ड

सबीना पार्क में मिली इस जीत के साथ ही भारत ने सीरीज भी 2-0 से अपने नाम कर ली। इस जीत के साथ ही रिकॉर्डबुक्स में कई नए रिकॉर्ड भी जुड़े। जानें इन रिकॉर्ड्स के बारे में

1- विराट कोहली अब भारत के टेस्ट कप्तान के रूप में सबसे ज्यादा (48 मैचों में 28) मैच जीत चुके हैं। दूसरे नंबर पर मौजूद महेंद्र सिंह धोनी ने 60 मैचों में 27 जीते हैं जबकि सौरव गांगुली के नाम 49 मैचों में 21 और अजहरुद्दीन के नाम 47 मैचों में 14 जीत का रिकॉर्ड है।

2- भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पूरे टूर में एक भी मैच ना हारते हुए आठ मैच जीते (2 टेस्ट, 3-3 वनडे और T20I) इससे बेहतर प्रदर्शन वह सिर्फ श्रीलंका के खिलाफ कर पाए हैं। साल 2017 में भारत ने लंका को उसी के घर में नौ मैचों में मात दी थी। (3 टेस्ट, 5 वनडे, 1 T20I)

3- भारत ने इस टूर के पहले टेस्ट में अपने टेस्ट इतिहास की सबसे बड़ी (319 रन) अवे जीत दर्ज करने के बाद दूसरे टेस्ट में अपनी छठी सबसे बड़ी जीत दर्ज कर ली।

4- इस सीरीज के दौरान भारत ने टेस्ट के पिछले 100 सालों के इतिहास में कम से कम 25 विकेट्स लेने वालों में तीसरा बेस्ट टीम पेसर्स बॉलिंग ऐवरेज निकाला। भारत के 12.58 के इस ऐवरेज से बेहतर सिर्फ वेस्टइंडीज (बनाम बांग्लादेश 2018) 11.32 और इंग्लैंड (बनाम न्यूजीलैंड 1955) 9.53 ही हैं।

5- जसप्रीत बुमराह के 6/27 फिगर्स वेस्टइंडीज के खिलाफ उसी की धरती पर किसी भारतीय द्वारा किया गया तीसरा बेस्ट प्रदर्शन है। इस मामले में रविचंद्रन अश्विन 7/83 टॉप पर हैं।

6- इस सीरीज में जसप्रीत बुमराह द्वारा ली गई हैटट्रिक किसी भारतीय की तीसरी टेस्ट हैटट्रिक थी। उनसे पहले सिर्फ हरभजन सिंह, 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ और इरफान पठान, 2006 में पाकिस्तान के खिलाफ ही यह कारनामा कर पाए थे। ओवरऑल यह टेस्ट क्रिकेट की 44वीं और सबीना पार्क की पहली हैटट्रिक थी।

7- मोहम्मद शमी ने 42 टेस्ट मैचों में अपने 150 विकेट्स पूरे कर लिए। वह सबसे तेजी से 150 या उससे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने वाले भारतीय बॉलर्स में तीसरे नंबर पर हैं। इस लिस्ट में उनके आगे कपिल देव (39 टेस्ट) और जवागल श्रीनाथ (40) टेस्ट हैं।

8- इस सीरीज में वेस्टइंडीज का बैटिंग ऐवरेज सिर्फ 14.95 था जो कि उनके इतिहास में सबसे कम है। इससे पहले उन्होंने 2005 में श्रीलंका के खिलाफ 15.77 की ऐवरेज से रन बनाए थे।

9- दूसरी पारी में वेस्टइंडीज के लिए शैनन गैब्रिएल ने भी बैटिंग की। वह इस पारी में बैटिंग करने वाले 12वें कैरेबियन बल्लेबाज थे। यह इंटरनेशनल क्रिकेट में पहली बार था जब एक ही पारी में 12 बल्लेबाजों ने बैटिंग की हो।

10- ऋषभ पंत ने 11वें टेस्ट में अपने 50 शिकार पूरे किए। वह वर्ल्ड क्रिकेट में सबसे तेजी से 50 शिकार करने वालों की लिस्ट में एडम गिलक्रिस्ट के साथ दूसरे नंबर पर हैं। इस लिस्ट में साउथ अफ्रीका के मार्क बाउचर, इंग्लैंड के जोस बटलर और ऑस्ट्रेलिया के टिम पेन (10 टेस्ट) पहले नंबर पर हैं।

फोटो : BCCI से साभार

Author: हिंदी में स्पोर्ट्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *