बेहद खास था मेंस क्रिकेट में अंपायरिंग करना : क्लेयर पोलोसैक

बीते वीकेंड मेंस वनडे इंटरनेशनल में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला बनीं ऑस्ट्रेलिया की क्लेयर पोलोसैक ने इसे ‘खास दिन’ करार दिया है।

31 साल की क्लेयर ने बीते वीकेंड नामीबिया और ओमान के बीच हुए वर्ल्ड क्रिकेट लीग डिविजन 2 के फाइनल मैच में अंपायरिंग की थी। क्लेयर ने मैच के बाद कहा कि वह अपनी परफॉर्मेंस के बाद ‘चैन से’ सो सकेंगी।

सभी के लिए खास दिन

पोलोसैक ने मैच के बाद कहा, ‘यह सभी के लिए एक खास दिन था और मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहती थी। वहां मैदान पर थोड़ा सा तनाव था, टीमों के बीच थोड़ा तनाव भी दिखा लेकिन मैंने बातों से ही सबको शांत कर लिया। सबने अच्छी प्रतिक्रिया दी, वहां प्लेयर्स के व्यवहार को लेकर कोई समस्या नहीं थी।’

आपको बता दें कि पोलोसैक नवंबर 2016 से अब तक 15 विमिंस वनडे मैचों में अंपायरिंग कर चुकी हैं। वह पहली बार ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के बीच हुए वनडे में अंपायरिंग करने उतरी थीं। पोलोसैक ने साल 2018 में हुए विमिंस T20 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल (इंग्लैंड बनाम भारत) में भी अंपायरिंग की थी।

साल 2017 के विमिंस वर्ल्ड कप के चार मैचों में अंपायरिंग करने वाली पोलोसैक ने इस मैच में नामीबिया की 145 रन की जीत के बाद कहा, ‘मुझे कुछ बड़े फैसले लेने पड़े। बड़े कॉट बिहाइंड, LBW जिससे मुझे खुशी है। आप कभी भी पूरी तरह संतुष्ट होकर नहीं लौटते लेकिन आज मैं काफी अच्छी नींद लूंगी।’

आपको बता दें कि पोलोसैक के नाम पहले से एक बड़ी उपलब्धि दर्ज है। पोलोसैक ऑस्ट्रेलियन मेंस डोमेस्टिक क्रिकेट के लिस्ट A मैच में अंपायरिंग करने वाली पहली विमिन अंपायर हैं। उन्होंने साल 2017 में यह कारनामा किया था।

पिछले साल दिसंबर में अपनी सहयोगी साउथ ऑस्ट्रेलियन विमिन अंपायर इलोइस शेरिडन के साथ एडिलेड स्ट्राइकर्स और मेलबर्न स्टार्स के बीच WBBL के मैच में अंपायरिंग के लिए उतरते ही पोलोसैक ने एक और उपलब्धि अपने नाम कर ली थी। इस मैच के जरिए यह दोनों किसी प्रोफेशनल मैच में अंपायरिंग करने वाली पहली विमिन अंपायर्स की जोड़ी बन गई थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *