ओलंपिक होस्ट करना अच्छी बात है लेकिन शर्मिंदा होने से बचना होगा : रिजिजू

स्पोर्ट्स मिनिस्टर किरण रिजिजू ने कहा है कि अगर हमें 2032 ओलंपिक गेम्स को आयोजित करने का अधिकार मिलता है तो यह गर्व की बात होगी लेकिन साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि देश को इसके लिए अच्छे से तैयारी करनी होगी जिससे हम शर्मिंदा ना हों।

गौरतलब है कि इंडियन ओलंपिक असोसिएशन तीन बड़े इंटरनेशनल इवेंट्स का आयोजन करने की बिड करने की तैयारी में है। इनमें 2026 यूथ ओलंपिक्स, 2030 एशियन गेम्स और 2032 ओलंपिक शामिल हैं।

चल रही है तैयारी

बीते साल अप्रैल में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने मुंबई में इंटरनेशनल ओलंपिक कमिटी (IOC) के प्रेसिडेंट थॉमस बाक से मुलाकात कर यूथ गेम्स और ओलंपिक आयोजन के लिए मुंबई की दावेदारी पर चर्चा की थी। IOA प्रेसिडेंट और IOC में भारतीय सदस्य नीता अंबानी ने 2023 के IOC सेशन को मुंबई में होस्ट करने की बिड की है।

रिजिजू ने कहा कि सरकार बड़े इंटरनेशनल इवेंट्स को देश में लाने के लिए सकारात्मक है और वे इस संबंध में IOA से बातचीत करेंगे। रिजिजू ने कहा,

हर देश के लिए किसी भी बड़े इंटरनेशनल इवेंट को होस्ट करना गर्व की बात है। सवाल यह है कि क्या हम इसके लिए तैयार हैं? आप बस ऐसे ही कोई इवेंट आयोजित कर शर्मनाक हालात नहीं खड़े कर सकते। इवेंट को सिर्फ होस्ट नहीं करना होता। बात उसे बेहतर तरीके से होस्ट करने की है।

रिजिजू ने आगे कहा,

इस बात में कोई शक नहीं है कि देश किसी बड़े इवेंट को आयोजित करने में गर्व महसूस करता, खासतौर से ओलंपिक। हम पॉजिटिव हैं, हम इसे IOAके साथ डिस्कस करेंगे। यह बड़े फैसले हैं, हम ऐसे ही कुछ भी नहीं बोल सकते। यह उचित चर्चा, प्लानिंग और आइडिया के बाद ही घोषित हो सकता है।

मोदी सरकार 2.0 में राज्यवर्धन सिंह राठौर की जगह लेने वाले वाले रिजिजू ने कहा कि वे ओलंपिक के लिए क्वॉलिफाई करने में एथलीट्स को पूरा सहयोग देंगे। हालांकि उन्होंने इस बात की भविष्यवाणी करने से साफ मना कर दिया कि भारत ओलंपिक में कितने मेडल्स जीत सकता है।

गौरतलब है कि IOA ने हाल ही में कॉमनवेल्थ गेम्स का बहिष्कार करने की बात की थी, रिजिजू ने साफ किया कि इतना बड़ा फैसला वे लोग अकेले दम पर नहीं ले सकते।

फोटो : सोशल मीडिया से साभार

Author: सूरज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *