EURO2020 क्वॉलिफायर्स : स्पेन ने स्वीडन को 3-0 से हराया

बीती रात सैंटियागो बर्नबेयु में खेले गए UEFA यूरो क्वॉलिफायर्स के मुकाबले में स्पेन ने स्वीडन को 3-0 से हरा दिया। इस गेम में स्पेन के लिए कैप्टन सर्जियो रामोस, अल्वारो मोराटा और मिकेल ओयर्ज़ाबल ने एक-एक गोल दागे।

बता दें कि इस गेम में दो गोल पेनल्टी से हुए जिसमें पहली पेनल्टी कैप्टन रामोस ने खुद ली और दूसरी स्ट्राइकर मोराटा को दी। रामोस द्वारा ओपनिंग गोल करने के बाद मिली दूसरी पेनल्टी के वक्त स्पेन का स्कोर 1-0 था।

रामोस का बड़ा दिल

टीम के आसान कंडिशन में होने के बावजूद दूसरी पेनल्टी खुद लेने के बजाय रामोस ने मोराटा को आगे कर दिया। मैच के बाद प्रेस से बातचीत करते हुए रामोस ने अपने इस फैसले के पीछे का कारण बताया है।

स्पैनिश आउटलेट मार्का के मुताबिक रामोस इस मैच में मिली दूसरी पेनल्टी मोराटा को देकर उनके आत्मविश्वास को दोबारा से लाने में उनकी मदद करना चाहते थे। रामोस ने इस बारे में मैच के बाद कहा,

‘अंत में स्ट्राइकर्स गोल्स के लिए ही तो जीते हैं और मोराटा एक किलर है। पहली पेनल्टी लेने के बाद अपने टीममेट को दूसरी पेनल्टी पास कर उसके मूड को दोबारा से खोजने से बेहतर और क्या हो सकता है। काम और गौरव इकट्ठे चलते हैं। स्कोर करने वाले से ज्यादा नतीजा अहम है।’

काफी खुश हैं मोराटा

चेल्सी से लोन पर एटलेटिको मैड्रिड के लिए खेल रहे स्पैनिश स्ट्राइकर मोराटा अपने कैप्टन के इस जेस्चर से काफी खुश हैं। उनका कहना है कि उन्होंने रामोस से पेनल्टी के लिए नहीं कहा था क्योंकि रामोस को स्कोर करना पसंद है।

मीडिया से बातचीत के दौरान पूर्व युवेंटस और रियल मैड्रिड स्ट्राइकर मोराटा ने कहा,

‘मुझे पेनल्टी देने का फैसला रामोस का था। मैंने उनसे नहीं कहा था क्योंकि वह हमेशा स्कोर करना चाहते हैं। उनका यह जेस्चर काफी अच्छा था। इसके लिए मैं हमेशा उनका आभारी रहूंगा। बिना बोले रामोस का मुझे पेनल्टी देना, इसने मेरी खुशी को दोगुना कर दिया है। उन्हें पता है कि मैं उनके बारे में क्या सोचता हूं।’

बता दें कि स्वीडन के खिलाफ गोल कर रियल मैड्रिड के कप्तान सर्जियो रामोस ने स्पेन के लिए अपने 20 गोल्स पूरे कर लिए हैं।

Author: लवली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *