सुपर कपः मिनर्वा के बायकॉट के बाद अगले राउंड में पहुंचा पुणे सिटी

रंजीत बजाज की मिनर्वा पंजाब FC ने अपना बहिष्कार जारी रखते हुए नॉकआउट फुटबॉल टूर्नामेंट हीरो सुपर कप के क्वॉलिफिकेशन राउंड के अपने मैच में उतरने से इनकार कर दिया। मिनर्वा द्वारा मैच खेलने ना आने के चलते उनकी प्रतिद्वंद्वी पुणे सिटी FC को अगले राउंड में एंट्री मिल गई।

सुपर कप का बायकॉट कर रहे हैं आई-लीग क्लब

ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन (AIFF) ने चंडीगढ बेस्ड इस क्लब के इस फैसले को ‘अजीबोगरीब’ और ‘अस्वीकार्य’ करार दिया है। आपको बताते चलें कि इससे पहले आठ आई लीग क्लबों ने ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशनल पर अनुचित बर्ताव का आरोप लगाते हुए इस टूर्नामेंट का बायकॉट करने का फैसला किया था।

हालांकि इस विरोध में शामिल रहे 8 में से 3 क्लब मिनर्वा, गोकुलाम केरला और आइज़ॉल एफसी यहां अपनी टीमों को लेकर पहुंचे थे जिससे लगा था कि वे अपने क्वॉलिफिकेशन मुकाबलों में खेलेंगे। मिनर्वा की टीम गुरुवार को प्री-मैच प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए भी नहीं पहुंची थी और इसके बाद टीम शुक्रवार को पुणे सिटी एफसी के खिलाफ मुकाबले के लिए भी नहीं उतरी।

मिनर्वा के फैसले से होगा देश की फुटबॉल का नुकसानः AIFF

वहीं, गोकुलाम और आइज़ॉल को शनिवार को कार्यक्रम के अनुसार दिल्ली डायनामोज और चेन्नैइन एफसी के खिलाफ मैच खेलने हैं लेकिन ये दोनों भी शुक्रवार को प्री-मैच प्रेस कॉन्फ्रेंस में नहीं पहुंचे। AIFF के महासचिव कुशाल दास ने इस बारे में कहा कि मिनर्वा का मैच का बहिष्कार करने का फैसला देश में फुटबॉल को नुकसान पहुंचाएगा।

दास ने कहा, ‘क्लबों और AIFF के बीच मतभेद हो सकते हैं लेकिन मतभेदों के कारण फुटबॉल मैच का बहिष्कार करना ‘पागलपन’ है और इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता। यह सही कदम नहीं है और इससे देश की फुटबॉल को नुकसान पहुंचेगा।’

Author: लवली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *