दीपा मलिक को खेल रत्न, जडेजा समेत 19 को अर्जुन अवॉर्ड

इंडियन क्रिकेटर रविंद्र जडेजा समेत 19 एथलीट्स को अर्जुन पुरस्कार के लिए चुना गया है। इन नामों को 12 सदस्यों वाली सेलेक्शन कमिटी ने दो दिवसीय मीटिंग के दूसरे दिन फाइनल किया है। इस पैनल में भाईचुंग भूटिया और मेरी कॉम जैसे दिग्गज शामिल थे।

इससे पहले मीटिंग के पहले दिन रेसलर बजरंग पुनिया को खेल रत्न देने का फैसला करने वाली कमिटी ने दूसरे दिन पैरालम्पियन दीपा मलिक को भी देश का सर्वोच्च खेल पुरस्कार देने का फैसला किया।

जड्डू बनेंगे अर्जुन

हाल ही में इंग्लैंड में खत्म हुए क्रिकेट वर्ल्ड कप के सेमी-फाइनल में भारत को मिली हार के दौरान जडेजा ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था। पिछले कुछ सालों से टीम इंडिया की टेस्ट और वनडे स्क्वॉड का अहम हिस्सा बने जडेजा ने अब तक मेन इन ब्लू के लिए 41 टेस्ट 156 वनडे और 42 T20 खेले हैं।

क्रिकेट के सभी फॉर्मेट्स मिलाकर 3748 रन बना चुके जडेजा के नाम कुल 402 इंटरनेशनल विकेट्स भी हैं।

कमिटी ने जडेजा के अलावा विभिन्न खेलों के 18 एथलीट्स को भी प्रतिष्ठित अर्जुन पुरस्कार के लिए चुना है। इसके साथ ही पैरालम्पिक की सिल्वर मेडलिस्ट दीपा मलिक को राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए चुना गया है। इससे पहले मीटिंग के पहले दिन कमिटी ने युवा रेसलर बजरंग पुनिया को भी खेल रत्न के लिए चुना था।

खेल रत्न दीपा

दीपा पैरालम्पिक में मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला हैं। उन्होंने 2016 रियो पैरालम्पिक गेम्स में शॉट पुट की F53 कैटेगरी (ऐसे पैरा एथलीट्स जो बैठकर थ्रो करते हैं और जिनके कंधे, कोहनी और कलाई में पूरी मसल पावर हो) में सिल्वर मेडल जीता था।

सत्रह साल पहले एक स्पाइनल ट्यूमर के चलते चलने-फिरने में लाचार हुईं दीपा इससे पहले 2012 में अर्जुन अवॉर्ड और 2017 में पद्म श्री जीत चुकी हैं। पिछले साल दीपा ने शॉट पुट छोड़कर जैवलिन और डिस्कस थ्रो करना शुरू किया था।

इसके बाद दीपा जकार्ता में हुए एशियन गेम्स में एक नया एशियन रिकॉर्ड बनाते हुए लगातार तीन पैरा गेम्स (2010, 2014, 2018) में मेडल जीतने वाली पहली और इकलौती भारतीय महिला बन गई थीं। दीपा ने डिस्कस थ्रो (F51-52-53) और जैवलिन थ्रो (F53-54) में ब्रॉन्ज़ मेडल्स जीते थे।

विमल को द्रोणाचार्य

इसके अलावा पैनल ने पूर्व बैडमिंटन प्लेयर विमल कुमार समेत तीन लोगों को द्रोणाचार्य अवॉर्ड के लिए भी चुना। इसके साथ ही तीन लोगों को द्रोणाचार्य अवॉर्ड की लाइफटाइम कैटेगरी में भी चुना गया।

विभिन्न श्रेणी के अवॉर्ड विजेता

खेल रत्न : बजरंग पुनिया (रेसलिंग), दीपा मलिक (पैरा-एथलेटिक्स)

अर्जुन अवॉर्ड : तजिंदर पाल सिंह तूर (एथलेटिक्स), मोहम्मद अनस (एथलेटिक्स), एस भास्करन (बॉडी बिल्डिंग), सोनिया लाथेर (बॉक्सिंग), रविंद्र जडेजा (क्रिकेट), चिंगलेनसाना सिंह (हॉकी), अजय ठाकुर (कबड्डी), गौरव सिंह गिल (मोटर स्पोर्ट्स), प्रमोद भगत (पैरा स्पोर्ट्स- बैडमिंटन), अंजुम मौदगिल (शूटिंग), हरमीत देसाई (टेबल टेनिस), पूजा ढांढा (रेसलिंग), फवाद मिर्ज़ा (घुड़सवारी), गुरप्रीत सिंह संधू (फुटबॉल), पूनम यादव (क्रिकेट), स्वप्ना बर्मन (एथलेटिक्स), सुंदर सिंह गुर्जर (पैरा एथलेटिक्स), बी साई प्रणीत (बैडमिंटन), सिमरन सिंह शेरगिल (पोलो)

द्रोणाचार्य अवॉर्ड : विमल कुमार (बैडमिंटन), संदीप गुप्ता (टेबल टेनिस), मोहिंदर सिंह ढिल्लों (एथलेटिक्स)

द्रोणाचार्य अवॉर्ड (लाइफ टाइम कैटेगरी) : मेज़बान पटेल (हॉकी), रामबीर सिंह खोकर (कबड्डी), संजय भारद्वाज (क्रिकेट)

ध्यान चंद अवॉर्ड फॉर लाइफटाइम अचीवमेंट्स : मैनुअल फ्रेड्रिक्स (हॉकी), अरूप बसक (टेबल टेनिस), मनोज कुमार (रेसलिंग), नितन किर्तने (टेनिस), सी ललरेम्सांगा (आर्चरी)

फाइल फोटो : क्रिकेट वर्ल्ड कप से साभार

Author: हिंदी में स्पोर्ट्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *