इंडियन विमिंस लीग : मणिपुर पुलिस को पीटकर चैंपियन बनी सेथु FC

सेथु FC (उमापति देवी 56’og, सबित्रा भंडारी 61’, 70’) 3-1 मणिपुर पुलिस SC (राधारानी देवी 44’)

पहले हाफ में पिछड़ने के बाद शानदार वापसी करते हुए तमिलनाडु की सेथु FC ने लुधियाना में हुए इंडियन विमिंस लीग के फाइनल में मणिपुर पुलिस SC को 3-1 से हराकर खिताब जीत लिया।

राधारानी देवी ने मणिपुर की टीम को लीड दिलाई थी लेकिन बाद में उमापति देवी के ओन गोल और फिर सबित्रा भंडारी के ब्रेस के दम पर सेथु ने मैच अपने नाम कर लिया।

संधिया ने नचाया

इससे पहले सेथु ने मैच की शुरुआत तेज की और मणिपुर के अटैकर्स को थामने के साथ काउंटर अटैक पर शानदार खेल दिखाया। सेथु की लेफ्ट विंगर संधिया ने शुरुआत में बेहतरीन प्रदर्शन किया। संधिया ने लेफ्ट विंग से लगातार मणिपुर के डिफेंस को तकलीफ दी।

मैच में 10 मिनट बीतने के बाद ही इस इंडिया इंटरनेशनल के पास गोल दागने का मौका था जब उन्हें बॉक्स के अंदर बॉल मिली। लेकिन उनके शॉट में इतनी ताकत नहीं थी कि वह गोल में जा पाए। संधिया को जल्दी ही एक और मौका मिला लेकिन इस बार उनका शॉट गोल से बाहर निकल गया।

बेबस रहीं बाला

इधर सेथु ने मणिपुर की स्टार बाला देवी को जबरदस्त तरीके से मार्क कर रखा था और उन्हें स्पेस बनाने के चक्कर में बार-बार मिडफील्ड या राइट विंग की तरफ भागना पड़ रहा था। सेथु के चक्रव्यूह में फंसी बाला जल्दी ही फ्रस्ट्रेट होने लगीं और बार-बार लॉन्ग रेंज से ही गोल दागने की कोशिश करने लगीं।

बाला लॉन्ग रेंज से गोल तो नहीं कर पाईं लेकिन हाफटाइम से ठीक पहले मणिपुर को लीड मिल गई। राधारानी ने एक कॉर्नर पर गोल दाग हाफटाइम से पहले स्कोर 1-0 कर दिया।

सेथु का कब्जा

सेथु सेकंड हाफ में और खतरनाक बनकर उभरी और जल्दी ही बराबरी का गोल हासिल कर लिया। डेंगमेई ग्रेस के एक लो क्रॉस पर कैप्टन इंदुमती काथीरेसन ने करारा शॉट जमाया जो मणिपुर की डिफेंडर उमापति देवी से टकराकर गोल में चला गया।

मदुरै की इस टीम ने बराबरी का गोल मिलने के बाद अपना अटैक और बढ़ा दिया और अगले पांच मिनट में टीम ने लीड ले ली। इस बार सेथु के लिए नेपाली स्ट्राइकर सबित्रा भंडारी ने गोल दागा। सेथु की इस नंबर-9 ने बेहतर खूबसूरती से गोलकीपर को राउंडऑफ करते हुए बॉल को गोल में धकेल दिया।

सबित्रा का कमाल

पहले हाफ में ज्यादातर वक्त तक शांत रहने वाली सबित्रा ने सेकंड हाफ में गोल दागते ही अपना लेवल और उठा लिया। इस गोल के नौ मिनट बाद ही उन्होंने मैच का अपना दूसरा गोल दाग मणिपुर पुलिस को हताश कर दिया।

इस बार संधिया ने लेफ्ट साइड से खूबसूरत तरीके से अंदर आते हुए मणिपुर की लेफ्ट बैक और लेफ्ट सेंटर बैक के बीच से बॉल निकाली और बाकी का काम पूरा करते हुए नेपाली स्ट्राइकर ने अपना दाएं पैर के जरिए बॉल को गोल में पहुंचा दिया।

हीरो IWL 2018-19 में व्यक्तिगत अवॉर्ड्स जीतने वाले प्लेयर्स

सबसे ज्यादा गोल्स : बाला देवी, मणिपुर पुलिस
बेस्ट गोलकीपर : लिंथोई, गोकुलाम केरला FC
इमर्जिंग प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट : रतनबाला देवी, सेथु FC
मोस्ट वैल्युएबल प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट : संधिया, सेथु FC

Author: Jack

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *