फर्जीवाड़े में गिरफ्तार हुए इंडियन हॉकी टीम के पूर्व कैप्टन

हैदराबाद पुलिस ने बीते बुधवार को तीन बार के ओलंपियन और इंडियन हॉकी टीम के पूर्व कैप्टन मुकेश कुमार को अरेस्ट कर लिया। मुकेश पर फर्जी अनुसूचित जाति प्रमाण पत्र बनवाने का आरोप है। आरोपों के मुताबिक मुकेश ने कथित तौर पर नौकरी पाने के लिए हैदराबाद में त्रिमुलेरी तहसीलदार कार्यालय से माला समुदाय का प्रमाण पत्र प्राप्त किया था।

चार दिन पहले हुई शिकायत

बोवेनपल्ली पुलिस स्टेशन के सर्किल इंस्पेक्टर डी राजेश के मुताबिक चार दिन पहले उन्हें मूलघेरी तहसीलदार से एक शिकायत मिली थी। इस शिकायत में कहा गया था कि पूर्व नेशनल हॉकी प्लेयर मुकेश कुमार ने गैरकानूनी तरीके से माला समुदाय से होने का प्रमाण पत्र त्रिमुलेरी तहसीलदार कार्यालय से प्राप्त किया है।

पिछड़े वर्ग से आते हैं मुकेश

गौरतलब है कि मुकेश पिछड़े वर्ग से आते हैं। पूछताछ के बाद जब यह साफ हो गया कि मुकेश कुमार एससी माला समुदाय से नहीं थे, तब पुलिस ने उनको गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने मुकेश के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 और 471 के तहत मामला दर्ज किया है।

तीन बार ओलंपिक खेल चुके हैं मुकेश

आपको बता दें कि एक समय में मुकेश की गिनती दिग्गज हॉकी खिलाड़ियों में होती थी, उन्होंने भारत के लिए 307 इंटरनेशनल हॉकी मैच खेले हैं जिसमें लगभग 80 गोल स्कोर किए हैं। मुकेश ने 1992 में बर्सिलोना, 1996 में अटलांटा और 2000 में सिडनी में हुए ओलंपिक्स में भारत का प्रतिनिधित्व किया है।

Author: Jack

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *