आर्चरी वर्ल्ड चैंपियनशिप : 14 साल बाद फाइनल में पहुंची इंडियन मेंस रिकर्व टीम

नीदरलैंड्स में चल रही आर्चरी वर्ल्ड चैंपियनशिप में बड़ा उलटफेर करते हुए इंडियन मेंस रिकर्व टीम ने मेजबान नीदरलैंड्स को मात देकर साल 2005 के बाद पहली बार आर्चरी वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में एंट्री कर ली है।

14 साल के लंबे इंतजार के बाद फाइनल में पहुंची भारतीय टीम फाइनल में पड़ोसी देश चीन को हराकर अपना पहला खिताब जीतने की फिराक में उतरेगी।

फिर से फाइनल

टोक्यो2020 ओलंपिक के लिए क्वॉलिफाई करने के एक दिन बाद हुए इस मुकाबले में तरुणदीप राय, अतानु दास और प्रवीण जाधव की भारतीय तिकड़ी ने शूटऑफ में 29-28 से जीत दर्ज की। सेमी-फाइनल का कुल स्कोर 5-4 का रहा ।

जानने लायक है कि मेंस रिकर्व टीम सिर्फ दूसरी बार वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंची है। इससे पहले 2005 में टीम फाइनल में पहुंची थी। स्पेन की राजधानी मैड्रिड में हुए इस मुकाबले में भारत की तरफ से तरुणदीप राय, जयंत तालुकदार और गौतम सिंह थे, इन्हें फाइनल में कोरिया ने 232-244 से हराया था।

कमाल के राय

क्वॉर्टर-फाइनल में चाइनीज ताइपे को 6-0 से हराने के बाद इंडियन मेंस रिकर्व टीम को मेजबान टीम से कड़ी चुनौती मिली। नीदरलैंड्स की तरफ से मैच में दुनिया के नंबर दो तीरंदाज स्टीव वाइलर, रियो 2016 के सेमी-फाइनलिस्ट जेफ वान डेन बर्ग और लंदन 2012 के सेमी-फाइनलिस्ट रिक खेल रहे थे।

भारतीय टीम इस मैच में दो बार पिछड़ी लेकिन टीम के सबसे सीनियर प्लेयर राय ने अपने अनुभव का पूरा इस्तेमाल कर मैच को शूटऑफ तक खींचा।

उलटफेर ही उलटफेर

मैच के बाद अतानु ने कहा,

‘हमने सच में काफी कड़ी मेहनत की थी। हम वर्ल्ड चैंपियनशिप से 10 दिन पहले नीदरलैंड्स आ गए थे, हमने ब्रेडा में प्रैक्टिस की और उससे हमें जीतने में काफी मदद मिली। हमने हवा के साथ बाकी परिस्थितियों को भी समझा। हमने बस अपने खेल का लुत्फ उठाया और अपना बेस्ट दिया।’

टीम इंडिया ने इस चैंपियनशिप के अपने पहले मुकाबले में नॉर्वे को मात दी थी। इसके बाद टीम ने पहला उलटफेर करते हुए छठी वरीयता प्राप्त कनाडा को हराकार क्वॉर्टर-फाइनल में एंट्री की और ओलंपिक कोटा हासिल किया।

सेमी-फाइनल में मेजबानों को हराने से पहले भारतीय टीम ने एक और उलटफेर कर तीसरी वरीयता प्राप्त चाइनीज ताइपे को मात दी थी।

इधर इंडियन विमिंस कंपाउंड टीम भी मेडल की रेस में है। शनिवार को उन्हें ब्रॉन्ज मेडल प्लेऑफ में तुर्की से खेलना है। जबकि एशियन गेम्स की सिल्वर मेडलिस्ट ज्योति को ब्रॉन्ज मेडल के लिए दुनिया की नंबर दो टर्किश आर्चर येसिम बोस्तान से भिड़ना होगा।

तस्वीर : वर्ल्ड आर्चरी से साभार

Author: सूरज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *