IPL इतिहास के 5 बेस्ट बॉलिंग फिगर्स

IPL का 12वां एडिशन चल रहा है और इसमें बॉलर्स और बैट्समेन दोनों ही शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। इस सीजन जहां एक तरफ डेविड वॉर्नर और जॉनी बेयरेस्टो ने शतक जड़े हैं तो वहीं मुंबई इंडियंस के लिए अपने डेब्यू मुकाबले में वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज अल्जारी जोसेफ ने IPL इतिहास के बेस्ट बॉलिंग फिगर का रिकॉर्ड बना दिया।

जोसेफ के इस प्रदर्शन के बाद हंगामा मचना लाजिमी था और ऐसा हुआ भी। लोगों को सबसे ज्यादा हैरानी इस बात की हुई कि IPL के पहले एडिशन में बने रिकॉर्ड को टूटने में इतना लंबा वक्त लग गया। ऐसे में चलिए आपको बताते हैं IPL इतिहास के पांच बेस्ट बॉलिंग फिगर्स …

1: अल्जारी जोसेफ (मुंबई इंडियंस) बनाम सनराइजर्स हैदराबाद

अल्जारी जोसेफ को मुंबई ने अपने पेसर एडम मिल्ने के रिप्लेसमेंट के तौर पर टीम में शामिल किया था। जोसेफ ने टीम के भरोसे पर खरा उतरते हुए अपने पहले मुकाबले में ही ऐतिहासिक प्रदर्शन कर दिया।

मैच में मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 136 रनों का स्कोर खड़ा किया था और फिर जोसेफ की अगुवाई में अपनी बॉलिंग के दम पर मुकाबले को 40 रन से जीत लिया। जोसेफ ने मैच में अपने 3.4 ओवर में मात्र 12 रन देकर 6 विकेट हासिल किए जो IPL इतिहास में किसी बॉलर का बेस्ट फिगर है।

2: सोहेल तनवीर (राजस्थान रॉयल्स) बनाम चेन्नई सुपरकिंग्स

IPL के पहले सीजन में राजस्थान रॉयल्स चैंपियन बनी थी और इसके पीछे सबसे बड़ा योगदान उनकी संतुलित टीम का था। ग्रुप स्टेज में राजस्थान के सवाई मानसिंह स्टेडियम में चेन्नई और राजस्थान भिड़े जिसमें चेन्नई ने पहले बैटिंग की।

राजस्थान के लिए खेल रहे पाकिस्तानी बॉलर सोहेल तनवीर ने मैच के अपने 4 ओवर्स में 14 रन देकर 6 विकेट हासिल झटक लिए। तनवीर का यह प्रदर्शन IPL के 11 सीजन तक टूर्नामेंट का बेस्ट बॉलिंग फिगर था।

3: एडम जांपा (राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स) बनाम सनरााइजर्स हैदराबाद

10 मई, 2016 को खेले गए इस मैच में राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स के लिए खेलते हुए ऑस्ट्रेलियन लेग स्पिनर एडम जांपा ने IPL के अब तक के इतिहास के दूसरे बेस्ट बॉलिंग फिगर्स रिकॉर्ड किए थे। जांपा इस मैच में IPL के एक मैच में 6 विकेट लेने वाले सिर्फ दूसरे गेंदबाज बने थे।

इस मैच में सनराइजर्स ने पहले बैटिंग करने का फैसला लिया, लेकिन जांपा ने 4 ओवर में 19 रन देकर 6 विकेट लेते हुए उनके इस फैसले को थोड़ी देर के लिए गलत साबित कर दिया। जांपा की बॉलिंग ने इस मैच में सनराइजर्स को सिर्फ 137 रन पर ही रोका दिया था। हालांकि, सनराइजर्स के बॉलर्स ने भी कमाल की बॉलिंग की और इस लो-स्कोरिंग मुकाबले को 4 रन से जीत लिया।

4: अनिल कुंबले (रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर) बनाम राजस्थान रॉयल्स

18 अप्रैल, 2009 को साउथ अफ्रीका के केपटाउन में खेले गए इस मैच में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने पहले बैटिंग करते हुए राहुल द्रविड़ के 66 रन की बदौलत 133 रन बनाए थे। इतना कम स्कोर बनाने के बाद सबको लगा था कि बैंगलोर का जीतना नामुमकिन होगा लेकिन अनिल कुंबले ने इस नामुमकिन को मुमकिन कर दिया।

अनिल कुंबले की अदभुत गेंदबाजी की बदौलत बैंगलोर ने इस मुकाबले को 75 रन से जीत लिया। कुंबले ने मैच में 3.1 ओवर में सिर्फ 5 रन देते हुए 5 विकेट चटकाए।

5: इशांत शर्मा (डेक्कन चार्जर्स) बनाम कोच्चि टस्कर्स केरला

27 अप्रैल, 2011 को खेले गए इस मैच में डेक्कन चार्जर्स ने पहले बैटिंग करते हुए कुमार संगकारा (65) की बदौलत 129 रन बनाए थे। जवाब में ब्रेंडन मैकुलम जैसे T-20 स्टार की मौजूदगी के बावजूद कोच्चि की टीम 74 रनों पर ही आल आउट हो गई।

कोच्चि को इतने सस्ते में समेटने में सबसे बड़ा रोल इंडियन पेसर इशांत शर्मा का रहा जिन्होंने 3 ओवर में मात्र 12 रन देते हुए 5 विकेट हासिल किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *