द्रोणाचार्य अवॉर्ड विवाद : आखिर किस शूटर के कोच हैं जसपाल राणा?

पूर्व शूटर और मौजूदा कोच जसपाल राणा को इस साल द्रोणाचार्य अवॉर्ड ना मिलने पर काफी चर्चा हो रही है। भारत के इकलौते व्यक्तिगत ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट अभिनव बिंद्रा ने इस पर निराशा जाहिर की थी। अब इस बारे में खबर है कि राणा को द्रोणाचार्य अवॉर्ड ना मिलने के पीछे उनके शिष्यों की बड़ी भूमिका है।

इन पुरस्कारों की घोषणा करने वाले 12 सदस्यों के पैनल के एक सदस्य का कहना है कि मनु भाकर, सौरभ चौधरी समेत राणा के किसी भी स्टूडेंट ने ऑफिशियल रिकॉर्ड्स में उनका नाम अपने कोच के तौर पर नहीं लिखा था।

किसके कोच राणा?

राणा को द्रोणाचार्य अवॉर्ड ना मिलने के बाद सेलेक्शन कमिटी की काफी आलोचना हो रही है। लेकिन इस बारे में सेलेक्शन कमिटी के एक सदस्य ने दावा किया है कि टार्गेट ओलंपिक पोडियम स्कीम (TOPS) के लिए आवेदन करते वक्त दिए गए एफिडेविट्स में किसी भी शूटर ने राणा को अपना कोच नहीं बताया था।

ऑफिशियल रिकॉर्ड में सौरभ ने जहां अमित शेरोन को वहीं मनु और अनीष भानवाला ने सुरेश कुमार और हरप्रीत सिंह को अपना कोच बताया है। उस सदस्य ने अपना नाम ना जाहिर करने की शर्त पर PTI से कहा,

हमने एथलीट्स के ऑफिशियल रिकॉर्ड्स के हिसाब से फैसले लिए। जसपाल राणा के किसी भी तथाकथित शिष्य ने TOPS का हिस्सा बनते वक्त दिए गए एफिडेविट में अपने कोच के तौर पर उनका नाम नहीं लिखा है। यह सही फैसला था।

हम किसी ऐसे व्यक्ति को कैसे अवॉर्ड दे सकते हैं जिसके स्टूडेंट्स ने अपने कोच के तौर पर उसका नाम ही ना दिया हो? यह चुनाव का मुख्य आधार था और यही उनके खिलाफ गया। यह सही और एकमत होकर लिया गया फैसला था।

अनुशासनहीन जसपाल!

स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (SAI) के एक सोर्स के हवाले से इंडियन एक्सप्रेस ने रिपोर्ट किया है कि जसपाल राणा को अनुशासनहीनता का भी खामियाजा भुगतना पड़ा है।

सोर्स के मुताबिक राणा इसी साल मई में हुए म्यूनिख वर्ल्ड कप में 25 मीटर पिस्टल फाइनल के दौरान मनु के साथ मौजूद नहीं थे। सोर्स ने कहा,

राणा म्यूनिख वर्ल्ड कप के लिए पिस्टल कोच के तौर पर टीम के साथ गए थे लेकिन मनु के फाइनल के दौरान, जब उनकी पिस्टल दो बार अटकी, राणा वहां मौजूद नहीं थे। इससे मनु और देश दोनों ओलंपिक कोटा से चूक गए।

फाइल फोटो, ट्विटर/लक्ष्य शूटिंग से साभार

Author: हिंदी में स्पोर्ट्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *