तीन कारण : क्यों वर्ल्ड कप 2019 की टीम में जगह डिजर्व करते थे ऋषभ पंत

इंग्लैंड में होने वाले क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 के लिए भारतीय क्रिकेट टीम की घोषणा हो चुकी है। टीम में जगह पाने वाले सभी खिलाड़ियों का नाम आ चुका है। दिनेश कार्तिक, विजय शंकर और केएल राहुल टीम इंडिया में जगह बनाने में सफल रहे हैं। बाकी की टीम में लगभग वही खिलाड़ी मौजूद हैं जो पिछले एक साल से लगातार भारतीय टीम के लिए खेल रहे हैं।

टीम के चयन को देखकर लग रहा है कि भारतीय टीम इस बार इंग्लैंड में वर्ल्ड कप के लिए मजबूती के साथ अपनी दावेदारी पेश करेगी, लेकिन एक सवाल लगभग हर भारतीय के दिमाग में घूम रहा है कि आखिर क्यों ऋषभ पंत को टीम में जगह नहीं मिली है। आइए, हम आपको बताते हैं वो तीन कारण कि आखिर क्यों ऋषभ पंत वर्ल्ड कप 2019 के लिए टीम इंडिया में जगह पाने के हकदार थे…

1- फिनिशर की भूमिका में फिट हो सकते थे पंत

टॉप आर्डर में रोहित शर्मा, शिखर धवन और विराट कोहली का खेलना पक्का है। चौथे नंबर पर एमएस धोनी को प्रमोट किया जा सकता था और पांचवें नंबर पर केदार जाधव उतर सकते थे।

पारी के अंत में धुंआधार बल्लेबाजी की जरूरत होती है जिसमें पंत माहिर हैं। छठे नंबर पर पंत टीम इंडिया को शानदार फिनिश दिला सकते थे। सातवें नंबर पर हार्दिक पंड्या खेलेंगे तो ऐसे में अगर पंत होते तो अंतिम के ओवरों में भारतीय टीम तेजी के साथ रन बना सकती थी।

2- इंग्लैंड में शानदार रहा था पंत का प्रदर्शन

पिछले साल इंग्लैंड दौरे के पहले दो टेस्ट मैचों में दिनेश कार्तिक को मौका दिया गया था, लेकिन वह बुरी तरह फेल रहे थे। इसके बाद आखिरी के तीन टेस्ट मैचों में ऋषभ पंत को मौका दिया गया जिसमें से पहले दो टेस्ट मैचों में पंत भी कुछ खास नहीं कर सके।

हालांकि, अंतिम टेस्ट में पंत ने 114 रनों की पारी खेली थी और इंग्लैंड में टेस्ट शतक लगाने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज बने थे। इसके अलावा पंत ने ऑस्ट्रेलिया में भी 150 रनों की पारी खेली थी और दिखाया था कि मौका मिलने पर वह अच्छी पारियां खेल सकते हैं।

3- IPL में चल रहा है पंत का बल्ला

अभी चल रहे IPL12 में पंत का बल्ला चल रहा है। पहले मुकाबले में ही उन्होंने मुंबई के खिलाफ 78 रनों की नाबाद पारी खेली थी और जसप्रीत बुमराह पर लगाए उनके छक्के अभी भी क्रिकेट फैंस को याद हैं। इस सीजन पंत 8 मुकाबलों में एक अर्धशतक की बदौलत 235 रन बना चुके हैं। पंत का स्ट्राइक रेट भी बेहद उम्दा रहा है और इसे देखते हुए उन्हें वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम में जगह दी जानी चाहिए थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *