UCL : ओल्ड ट्रैफर्ड में पुरानी यादें मिटाना चाहेंगे लियोनल मेसी

हर बार की तरह चैंपियंस लीग का करंट एडिशन भी बेहद रोमांचक दिख रहा है। UCL के इस एडिशन के क्वॉर्टर फाइनल मुकाबले में प्रीमियर लीग से सबसे ज्यादा चार टीमें खेल रही हैं। इस क्वॉर्टर-फाइनल का तीसरा मुकाबला फुटबॉल क्लब बार्सिलोना और मैनचेस्टर यूनाइटेड के बीच बुधवार की देर रात को ओल्ड ट्रैफर्ड में खेला जाना है।

उम्मीद की जा रही है कि यह गेम काफी एक्साइटिंग होगा। इन दोनों टीमों के पिछले इतिहास को देखते हुए ऐसी उम्मीदें करना लाजिमी भी है। बता दें कि इससे पहले 2007-08 सीजन में खेले गए चैंपियंस लीग के सेमीफाइनल में जब ये दोनों भिड़े थे तब कैटलन क्लब को 1-0 से हार का स्वाद चखना पड़ा था। इस मैच ने बार्सिलोना और उस वक्त सिर्फ 20 साल के रहे लियोनल मेसी का भविष्य पूरी तरह बदल दिया था।

ओल्ड ट्रैफर्ड में मिला सबक

इस गेम का हिस्सा रहे बार्सिलोना के अब के स्टार प्लेयर लियोनल मेसी उस वक्त सिर्फ 20 साल के थे। हालांकि इतनी छोटी उम्र में भी उन्होंने अपने टैलेंट का डंका बजा दिया था। लेकिन उस रात किस्मत होम टीम के साथ थी और उन्होंने बार्सिलोना को हराकर चैंपियंस लीग के फाइनल का टिकट हासिल कर लिया।

बुधवार देर रात एक बार फिर से मेसी ओल्ड ट्रैफर्ड में होंगे और उन्हें अच्छे से याद होगा कि कैसे 11 साल पहले इसी स्टेडियम में मिली हार ने बार्सिलोना और उनके भविष्य को बदलकर रख दिया था। इस हार के बाद बार्सा बोर्ड ने क्लब की कमान फ्रैंक रिज़कार्ड से लेकर मैनचेस्टर सिटी के करंट मैनेजर पेप गार्डिओला को सौंप दी थी।

मेसी+गार्डिओला+बार्सिलोना= बवाल

इसी साल ब्राज़ीलियन लेजेंड रोनाल्डीनियो ने भी क्लब छोड़ दिया था। गार्डिओला के आने और रोनाल्डीनियो के जाने ने मेसी के करियर को पूरी तरह से बदल दिया। 29 अप्रैल 2008 को ओल्ड ट्रैफर्ड में खेले गए गेम में मेसी ने शुरुआत की थी। थिएरी ऑनरी को बेंच पर रख रिज़कार्ड ने सैमुएल एटो और मेसी को अटैक में एकसाथ उतारा था लेकिन बार्सिलोना के पास उस रात एडविन वान डर सार का कोई जवाब नहीं था।

इस हार से कैटलन क्लब को काफी नुकसान हुआ था लेकिन गार्डिओला के अंडर उन्होंने उस नुकसान की पूरी भरपाई कर ली। बता दें कि गार्डिओला के अंडर बार्सिलोना और मेसी दोनों ने फुटबॉल जगत पर राज किया। 2007-08 में सिर्फ 16 गोल्स स्कोर करने वाले मेसी ने 2008-09 सीजन में 36 गोल्स मारे और सीजन दर सीजन पहले से बेहतर होते गए।

इसके साथ ही बार्सिलोना ने भी एक के बाद एक कई ट्रॉफीज अपने नाम की। चैंपियंस लीग के इस सीजन जब मेसी एक बार फिर से ओल्ड ट्रैफर्ड में होंगे तो वह पिछली हार का बदला लेने की पूरी कोशिश करेंगे। इतना ही नहीं उनके सामने ओल्ड ट्रैफर्ड में गोल करने की चुनौती भी होगी। बता दें कि ओल्ड ट्रैफर्ड उन चुनिंदा जगहों में से एक है जहां मेसी अबतक स्कोर करने में असफल रहे हैं।

Author: लवली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *