गीता-बबीता के गांव को नहीं मिलेगा एसी रेसलिंग हॉल!

भाजपा सरकार ने रेसलर्स गीता-बबीता के गांव में स्टेडियम और एयर कंडीशंड रेसलिंग हॉल बनाने की योजना रद्द कर दी है। इसके साथ ही यंग रेसलर्स की आधुनिक सुविधाओं के बीच कुश्ती सीखने की उम्मीदें भी धराशाई होती दिख रही हैं। मालूम हो कि भाजपा सरकार ने ही गांव में स्टेडियम और हॉल बनाने की घोषणा की थी।

गीता ने दिलाई थी पहचान
इंटरनेशनल रेसलर गीता, बबीता और विनेश फौगाट की उपलब्धियों ने हरियाणा के चरखी दादरी जिले में स्थित उनके गांव बलाली को दुनिया के नक्शे पर स्थापित कर दिया है। फौगाट सिस्टर्स के कमाल से प्रभावित होकर भाजपा सरकार ने साल 2016 में गांव में स्पोर्ट्स स्टेडियम और एयर कंडीशंड रेसलिंग हॉल बनाने की घोषणा की थी। गौरतलब है कि यह गांव पहली बार तब चर्चा में आया था जब गीता फौगाट ने ओलंपिक्स में जगह बनाई थी।

बबीता और विनेश भी बनीं चैंपियन
गीता के बाद बबीता और विनेश फौगाट ने इंटरनेशनल लेवल पर कई सारे मेडल्स जीतकर गांव और देश का नाम रोशन किया। द्रोणाचार्य अवॉर्डी कोच महावीर ने काफी मेहनत के जरिए इस गांव में महिला पहलवानों की नर्सरी तैयार की थी। इस नर्सरी के जरिए देश-विदेश में गांव और प्रदेश का नाम रोशन होने से खुश मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सितंबर 2016 में गांव को एयर कंडीशंड रेसलिंग हॉल और स्टेडियम का तोहफा देने की घोषणा की थी।

बीच में ही कैंसल हुए प्रोजेक्ट्स
मुख्यमंत्री की इस घोषणा के बाद सरकार ने इसके लिए 1,75,00,000 की राशि मंजूर की थी। खेल और पंचायती राज विभाग ने संयुक्त रूप से इन दोनों प्रोजेक्ट्स के निर्माण की प्रक्रिया शुरू की थी। इसी दौरान खबर है कि सरकार ने इन प्रोजेक्ट्स को रद्द करने का फैसला कर लिया है। अब फोगाट सिस्टर्स के गांव में ना तो स्टेडियम बनेगा और ना ही बेहतरीन रेसलिंग हॉल।

Author: Jack

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *