एथलीट्स की बेइज्जती नहीं करती हमारी सरकार : अनिल विज

हरियाणा ने एथलीट्स ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। नंबर वन रेसलर बजरंग पुनिया और एशियन गेम्स चैंपियन विनेश फोगाट और एशियन गेम्स चैंपियन बॉक्सर अमित पंघाल जैसे स्टार्स का कहना है कि हरियाणा सरकार उनके साथ भेदभाव कर रही है।

ये लोग हरियाणा सरकार की नई पॉलिसी के तहत प्राइज मनी में हुई कटौती से नाराज हैं। पुनिया ने कहा था कि हरियाणा के रेसलर्स न सिर्फ स्टेट बल्कि पूरे देश का प्रतिनिधित्व करते हैं और सरकार की ऐसी मनोबल गिराने वाली हरकतों से इन एथलीट्स का नुकसान होगा।

सरकार का इनकार

इन एथलीट्स द्वारा अपना गुस्सा सार्वजनिक करने के बाद इस पर प्रतिक्रिया देते हुए हरियाणा के स्पोर्ट्स मिनिस्टर अनिल विज ने कहा कि उन लोगों ने कभी भी खिलाड़ियों का अपमान नहीं किया। ANI के मुताबिक विज ने कहा,

‘खेल नीति के आधार पर प्राइज मनी बांटी गई है। अगर कोई समस्या है तो वे डिपार्टमेंट से बात कर सकते हैं। हमने कभी भी अपने खिलाड़ियों की बेइज्जती नहीं की।’

नहीं माने एथलीट्स

हालांकि एथलीट्स इस बात से सहमत नहीं हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक विनेश फोगाट ने कहा कि सरकार पांच साल पहले के अपने वादे से पीछे हट रही है जिसमें कहा गया था कि किसी भी एथलीट को हरियाणा छोड़ने पर मजबूर नहीं किया जाएगा और सबको इज्जत और ईनाम मिलेगा। विनेश ने ट्वीट किया,

‘हर बार आप यहीं कोशिश में रहते हैं कैसे खिलाड़ियों को परेशान किया जाए।मैंने आज तक हरियाणा में खिलाड़ियों का इतना अपमान करने वाली सरकार नहीं देखी है। मैं पूछना चाहतीं हूँ आपसे आपने आज तक कितने खिलाड़ियों को प्राइज़ मनी और जॉब देने का काम किया है।’

गौरतलब है कि हरियाणा सरकार ने पिछले हफ्ते एथलीट्स को सम्मानित करने और प्राइज मनी बांटने के लिए होने वाला एक राज्य-स्तरीय आयोजन रद्द कर दिया था। सरकार ने इसकी जगह प्राइज मनी को सीधे प्लेयर्स के खाते में डालने का फैसला किया।

इसमें 2016-17, 2017-18 और 2019-19 के कॉमनवेल्थ गेम्स, एशियन गेम्स और एशियन पारा गेम्स में मेडल जीतने वाले प्लेयर्स को सम्मानित किया जाना था।

गौरतलब है कि सबसे पहले बजरंग पुनिया द्वारा ट्विटर पर उठाए गए इस मुद्दे को अब हरियाणा के लगभग सारे सुपरस्टार एथलीट्स का समर्थन मिल रहा है।

फाइल फोटो : इंडियन एक्सप्रेस से साभार

Author: सूरज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *